Back to resources

The end of secession: Why the elite withdrawal from public services is coming to an end

Climate & Biodiversity | Nov 13, 2017

With the approaching winter the air quality in many Indian cities, especially in Delhi, becomes a public health hazard. Something so fundamental as breathing easy can no longer be taken for granted. It’s a wake-up call worthy of a civic revolution.

View PDF

More like this

Climate & Biodiversity

हम अपने बच्चों को प्राकृतिक संपदा विरासत में दें

जिम्मेदारी… अगर बच्चा प्रकृति के साथ समय नहीं बिताता तो उसमें अवसाद की आशंकाएं बढ़ जाती हैं माता-पिता के रूप में, जब हम अपनी विरासत के बारे में सोचते हैं कि हम अपने बच्चों के लिए क्या करेंगे तो अक्सर दिमाग में भौतिक धन जैसे कि गहने, घर, कार या फिर कैश का ख्याल आता […]
Apr 27, 2019 | Article

Climate & Biodiversity

एक दूसरे के साथ बातें करने से स्वस्थ रहते हैं पेड़

परवाह… इस बार त्योहारों में परिवार के साथ उत्सव मनाते हम कुछ वक्त पेड़ों के रोचक दुनिया को भी जानें। अब ज्यों ही त्योहारों का मौसम आ रहा है, हम इस साल भरपूर मानसून के लिए खुश हो सकते हैं। दुर्भाग्य से कई इलाके ऐसे भी हैं जहां बाढ़ के गंभीर हालात बने। इस देश […]
Oct 5, 2019 | Article

Climate & Biodiversity

Address To India Climate Collaborative

There is no excerpt because this is a protected post.
Aug 29, 2018 | Presentation

Climate & Biodiversity

Payments for Ecosystem Services

It is clearly time for a new social contract with the farmer and the tribal, if not as a moral imperative certainly as a strategic one. Two symbols come to mind immediately when we look at India as it is instead of through the aspirational prism of an India shining or poised. One: the disenfranchised […]
Aug 3, 2007 | Article